राष्ट्रिय ध्वज तिरंगा के बारे में रोचक तथ्य | Facts About Indian Flag In Hindi

Flag (Tiranga Jhanda) In Hindi: प्रत्येक देश का राष्ट्रीय ध्वज अपना अलग-अलग होता है किसी भी देश का एक जैसा नहीं होता।  हमें अपने राष्ट्रीय झंडे की तरह दूसरे देश के राष्ट्रीय ध्वज का भी सम्मान करनाचाहिए तो आइए आज हम आपको अपने राष्ट्रीय ध्वज " तिरंगा " के बारे में कुछ रोचक तथ्य बताते हैं , जो हर एक नागरिक के लिए जानना जरुरी हैं-  Facts About Indian Flag In Hindi

राष्ट्रीय झंडा तिरंगा के बारे में रोचक तथ्य | Amazing Facts About Indian Flag In Hindi


1. राष्ट्रिय ध्वज तिरंगा ( झंडा ) कभी भी जमीन से छूना नहीं चाहिए।

2. तिरंगे (राष्ट्रिय झंडे) पर कुछ भी बनाना या लिखना गैरकानूनी है।

भारतीय झंडातीन रंगो से मिलकर बना हुआ है , यही कारण है कि इसे तिरंगा नाम से सम्बोधित किया जाता है।   
 
4. हिदुस्तान के राष्ट्रीय ध्वज (तिरंगा ) में जब चरखे के स्थान पर अशोक चक्र को लिया गया तो महात्मा गांधी नाराज हो गए थे।, बापू ने  यह भी बोल दिया था कि मैं अशोक चक्र वाले झंडे को सलाम नहीं करूँगा।

5. भारतीय संसद में एक साथ 3 तिरंगे झंडे फहराए जाते हैं।

6. तिरंगा झंडा फहराते समय जब बोलने वाले का मुख श्रोताओं की तरफ हो तो तिरंगा झंडा उसके दाहि तरफ होना चाहिए।

7. फ्लैग कोड ऑफ इंडिया के द्वारा गलत तिरंगा फहराने में दोषी पाए जाने वाले व्यक्ति को जेल भी हो सकती है। 

8. तिरंगा (Indian Flag)  हमेशा खादी, कॉटन या सिल्क का ही होना चाहिए।

9. राष्ट्रिय तिरंगा झंडा प्लास्टिक का  बनाने पर रोक है।  

10. तिरंगे को हमेशा रेक्टेंगल शेप में ही बनाया जायेगा। जिसका अनुपात 3 : 2 ही होगा।

तिरंगा से जुडी रोचक जानकारी | Interesting Facts About Indian Flag In Hindi


11.तिरंगे झंडे में लगे अशोक चक्र में कुल 24 तिल्लियां होनी जरूरी है, चाहे आकर कोई भी हो।

12. झंडे का इस्तेमाल किसी भी प्रकार के सजावट का सामान बनाने में करने पर मनाही है।

13. तिरंगे के जिस डिज़ाइन को फेहराया जाता है उसे 22 जुलाई 1947 को भारत द्वारा अपनाया गया था।

14.7 अगस्त 1906 को पारसी बागान चौक में सबसे पहले राष्ट्रिय ध्वज लाल, पीले और हरे रंग की पट्टियों वाला फेहराया गया था।

15. भारतीय तिरंगे को पिंगली वैंकैया जो कि आंध्रप्रदेश के रहने वाले थे उन्होंने बनाया था।

16. भारत के राष्ट्रपति भवन के संग्रहालय में एक तिरंगा ऐसा है जो सोने सोने के स्तंभ पर हीरे-जवाहरातों से जड़ कर बना है।

17. सन 2002 में 22 दिसंबर के बाद लोगों को अपने आफिस या रिहाइश स्थानों पर आम दिनों में भी तिरंगा फहराने की अनुमति मिली थी ।

18. भारतीय संविधान के मुताबिक जब भी किसी राष्ट्र विभूति का निधन होता है  व राष्ट्रीय शोक घोषित होता है , तब कुछ समय के लिए उसी भवन के राष्ट्र ध्वज को झुका दिया जाता है जहां पर उस पार्टिव शरीर को रखा जाता है।

19. देश के लिए शहीद हुए व्यक्तियों  के शवों पर लिपटे तिरंगे की केसरिया पट्टी सिर की ओर एवं हरी पट्टी को पैरों की ओर रखा जाता है और शव को दफ़नाने के समय ओस ध्वज को हटा लिया जाता है।

20. राष्ट्रिय तिरंगा 29 मई 1953 में सबसे सबसे ऊंची पर्वत की चोटी माउंट एवरेस्ट पर फेहराया गया था जब शेरपा तेनजिंग और एडमंड माउंट हिलेरी ने एवरेस्ट पर फतह पायी थी। 

Post a Comment

0 Comments